use of lantus insulin in hindi : लैंटस इन्सुलिन के उपयोग हिंदी में 

By | May 5, 2022

use of lantus insulin in hindi : लैंटस इन्सुलिन के उपयोग हिंदी में 

use of lantus insulin in hindi

use of lantus insulin in hindi

लैंटस क्या है ? / What is Lantus?

use of lantus insulin in hindi : लैंटस लम्बे समय तक काम करने वाला एक इन्सुलिन इंजेक्शन है जिसका उपयोग हम लोग टाइप -1 और टाइप – 2 वाले मधुमेह के रोगियों के इलाज में उपयोग करते हैं। 

लैंटस इन्सुलिन में सक्रिय घटक के रूप में इन्सुलिन ग्लैरगिन होता है जो मानव इन्सुलिन के सामान ही मानव निर्मित इन्सुलिन है और शरीर की कोशिकाओं को कृत्रिम इन्सुलिन की निम्न और स्थिर दर देता है। 

Sinarest uses in Hindi – सिनारेस्ट का इस्तेमाल सही तरीके से कैसे करें ?

लैंटस का उपयोग  / use of lantus

लैंटस इन्सुलिन इंजेक्शन के रूप में मिलता है जिसका उपयोग हम लोग किसी भी तरह की शॉर्ट एक्टिंग इंसुलिन और अन्य भी मौखिक हाइपोग्लाइसेमिक दवाओं के मेरे में किया जाता है

लैंटस  कैसे काम करता है ? / How does Lantus work?

  • लैंटस इंसुलिन ग्लैरगिन  का एक स्टरलाइट सॉल्यूशन है। लेंटर के हर एक मिली में इंसुलिन ग्लायबीन इनकी 100 अंतरराष्ट्रीय इकाइयां  होती हैं। 
  •  इंसुलिन ग्लैरगिन  तेजी से काम करने वाला इंसुलिन है जो मानव के इंसुलिन के समान ही काम करता है और मांसपेशियों द्वारा ग्लूकोस को उत्तेजित करने में मदद करता है और ग्लूकोस के बढ़ने की क्षमता को रोक कर खून ग्लूकोज के स्तर को कम कर देता है। 
  • use of lantus insulin in hindi : खून ग्लूकोस के क्रम को नियंत्रित करके यह गुर्दे की हानी, हृदय की समस्याओं में, आंखों में अंधापन होना, तंत्रिका तंत्र की समस्याओं की घटनाओं को भी कम कर देता है। 

लैंटस कैसे लें ? / How to take Lantus?

  • लैंटस इंजेक्शन की खुराक इसे लेने का तरीका आपकी उम्र और आपका स्वास्थ्य आपकी बीमारी की गंभीरता के आधार पर ही आधारित है। 
  •  यदि सॉल्यूशन रंगीन होता है तो या कंटेनर में प्लम्स हो गए हो तो लैंटस इंजेक्शन ना ले ऐसे मामलों में कंटेनर को छोड़ देना ही उचित है। 
  • लैंटसइंजेक्शन लेने से पहले उस जगह को अल्कोहल के साथ रगड़ कर साफ कर लेना चाहिए और सुखा लें, और इसको शरीर के निचले हिस्से में लेना उचित माना जाता है और अंता सिरा किया इंट्रा मर क्यू ल मार्ग के  द्वारा से इसे ना लेना चाहिए

Combiflam Tablet Uses In Hindi : कॉम्बिफ्लेम का उपयोग हिंदी में, फायदे और नुकसान ( साइड इफेक्ट )

  • लैंटस इंजेक्शनठंडा होने पर मरीज को नहीं दे रहा जाइए क्योंकि यह बहुत ही दर्दनाक साबित होता है और इस इंजेक्शन को कमरे के तापमान पर ही लेने की सलाह है दी जाती है। 
  • इंजेक्शन लगवाते समय यह ध्यान देना चाहिए कि उसी सिरिंज या सुई को एक बार से अधिक उपयोग ना हुआ हो क्योंकि ऐसा होने पर हेपेटाइटिस, एचआईवी ऐड्स जैसे खतरनाक संक्रमणों के होने के आसार ज्यादा रहते हैं। 
  •  इस इंजेक्शन को आपको खाना खाने से 15 मिनट पहले या फिर खाना खाने के बाद इंजेक्शन का उपयोग करें क्योंकि इंसुलिन तेजी से काम करती है और खाना छोड़ने पर हाइपोग्लाइकेमियां जैसी बीमारी होने के चांस होते हैं। 
  • गैर फार्मोकोलॉजिकल थेरेपी लैंटस इंजेक्शन लेने के साथ खून ग्लूकोज के स्तर को कम करने के लिए भी उतनी ही आवश्यक है
  • अन्य इंसुलिन उत्पादों और समाधानो  के साथ में लैंटस इंसुलिन का मिलान या मेल ना करें। 

भारत में लैंटस का मूल्य क्या है ? / What is the price of Lantus in India?

  • use of lantus insulin in hindi : भारत में लैंटस इंजेक्शन  ₹2 में  100 आई यू प्रति एम एल सलूशन का 3 मिली का इंजेक्शन मिलता है। 
  • लैंटस सोलोस्टर 69 रूपए में 100 आई यू प्रति ऍम।अल पेन का 3 मिली का इंजेक्शन 
  • 01 रूपए में 100 आई यू प्रति ऍम अल की शीशी का 10 मिली का इंजेक्शन

Neurobion forte tablet uses in hindi : न्यूरोबिओन फोर्ट टेबलेट का इस्तेमाल हिंदी में 

लैंटस की सामान्य खुराक / Usual Dose of Lantus

  • मधुमेह के इलाज के लिए लैंटस की कोई निश्चित खुराक नहीं है। इस इंजेक्शन की खुराक सामान  के लिए खून ग्लुकोष के स्तर की निरंतर निगरानी जरूरी है।  
  • इसके दुष्प्रभावों के जोखिमों को कम करने के लिए आपको डॉक्टर पहले इस दवा की कम खुराक से ही शुरू करते हैं और जैसे ही आपकी स्तिति में सुधर होता है वैसे ही आपकी खुराक में भी बढ़ोत्तरी होती रहती है। 
  • और खुराक को ध्यान से लें जितनी चिकित्सक द्वारा बताई गयी हो क्योंकि इन्सुलिन की खुराक में सबसे छोटे से छोटे बदलाव के कारण रक्त शर्करा में बड़ा प्रभाव पड़ सकता है। 
  • लैंटस इन्सुलिन को दिन में केवल एक ही बार और एक ही नियमित समय पर लेना चाहिए। 
  • use of lantus insulin in hindi : शारीरिक गतिविधि ,समय और खाना की सेवन की मात्रा ,गुर्दे और जिगर के कार्यों में बदलाव होने के साथ ही लैंटस इन्सुलिन की खुराक के संयोजन की जरुरत होती है। 

लैंटस से कब बचना चाहिए ? / When should Lantus be avoided?

लैंटस से निम्नलिखित स्तित्यों में बचना चाहिए या सावधानीपूर्वक इसका इस्तेमाल करना चाहिए –

  • गुर्दे या जिगर का गंभीर प्रभाव में 
  • इसके किसी भी घातक वाले मरीज 
  • मधुमेह केटोएसिडोसिस 

Dolo 650 uses in Hindi : डोलो 650 उपयोग, खुराक, मूल्य, संरचना और साइड इफेक्ट्स

भंडारण / Storage

  • दवा को फ्रिज में न रखे 
  • छोटे बच्चों व पालतू जानवरों से इसे दूर रखें 
  • इस दवा को सीधी गर्मी व नमी से दूर एक ठंडी व सूखी जगह पर रखें 

लैंटस लेते समय टिप्स / Tips while taking Lantus

अच्छे परिणाम पाने के लिए लैंटस को गैर फार्माकोलाजिकल थेरेपी के साथ लेना चाहिए। शुरूआती टाइप -2 मधुमेह में केवल गैर फार्माकोलॉजिकल थेरेपी के द्वारा ही अच्छे परिणाम मिल सकते हैं। 

Neurobion forte tablet uses in hindi : न्यूरोबिओन फोर्ट टेबलेट का इस्तेमाल हिंदी में

Combiflam Tablet Uses In Hindi : कॉम्बिफ्लेम का उपयोग हिंदी में, फायदे और नुकसान ( साइड इफेक्ट )

Sinarest uses in Hindi – सिनारेस्ट का इस्तेमाल सही तरीके से कैसे करें ?

Dolo 650 uses in Hindi : डोलो 650 उपयोग, खुराक, मूल्य, संरचना और साइड इफेक्ट्स

निष्कर्ष – दोस्तों हिंदी में हेल्प पाओ किसी भी प्रकार की चिकित्सा और उपचार प्रदान नहीं करता है। किसी भी दवा का इस्तेमाल करने से पूर्व अपने चिकित्सक की सलाह अवश्य ले लें।  हम उम्मीद करते हैं कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। आप हिंदी में हेल्प के लिए हमारी की वेबसाइट www.hindimehelppao.com विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है, तो हिंदी में हेल्प पाओ के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं और अन्य लोगों के साथ साझा कर सकते हैं। UP to 50% of on Amazon

Leave a Reply

Your email address will not be published.