Dexona practin tablet uses in hindi : डेक्सोना और प्रेक्टिन टेबलेटका उपयोग हिंदी में

By | April 7, 2022

Dexona practin tablet uses in hindi : डेक्सोना और प्रेक्टिन टेबलेट का उपयोग हिंदी में

डेक्सोना और प्रेक्टिन टेबलेटका उपयोग हिंदी में

डेक्सोना और प्रेक्टिन टेबलेटका उपयोग हिंदी में

डेक्सोना टेबलेट के फायदे ( Benefits of Dexona Tablet )

Dexona practin tablet uses in hindi – डेक्सोना टेबलेट एक ऐसी दवा है जो परिचय के द्वारा ही दी जाती है और यह टेबलेट इंजेक्शन के रूप में भी उपलब्ध है इस दवाई को खासतौर से एलर्जी, दमा, कैंसर के इलाज में इस्तेमाल करते हैं।  और डेक्सोना को अन्य बीमारियों में भी लिया जा सकता। 

किसी किसी मरीज को डेक्सोना टेबलेट सेवन करने से दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं जैसे त्वचा पर निशान पड़ जाना, खुश्की, खुजली और जलन आदि।  इसके अलावा भी डेक्सोना के अन्य दुष्प्रभाव हो सकते हैं ,  और डेक्सोना टेबलेट के दुष्प्रभाव बहुत जल्दी खत्म हो जाते हैं और इलाज के बाद यह जारी नहीं रहते हैं और अगर दुष्प्रभाव लंबे समय तक बने रहते हैं तो इस बारे में डॉक्टर को सारी जानकारी देकर डॉक्टर की सलाह अनुसार ही दवा का सेवन करें, 

डेक्सोना टेबलेट शांत और इम्यूनोमोड्यूलेटिंग गुणों  के साथ एक स्टेरॉयड दवा है ,जो शरीर में पदार्थों के आगमन को रोकता है जो वृद्धि का कारण बनते हैं। 

विभिन्न बीमारियों  के इलाज के लिए डेक्सोना टेबलेट की सिफारिश करते हैं, जिसमें उत्तेजक  या ऑटो संवेदनशील जैसी समस्याएं, त्वचा,गठिया  के मुद्दों,और अन्य हाइपरसेंसेटिव प्रतिक्रियाएं, गंभीर अस्थमा और अन्य स्टेरॉयड -उत्तरदाई मुद्दों से संबंधित पीड़ा और विस्तार के छेत्र में ,

डेक्सोना टेबलेट व्यक्तिगत संतुष्टि पर कार्य करने के लिए कुछ विशेष प्रकार के व्यक्तियों और  आकस्मिक प्रभावों को जैसे कम करने के लिए घातक विकास उपचार में अतिरिक्त रूप से सहायता  करती है। 

Neurobion forte tablet uses in hindi : न्यूरोबिओन फोर्ट टेबलेट का इस्तेमाल हिंदी में

डेक्सोना एक प्रकार से व्यवसाय एक दवा है जिसे टेबलेट इंजेक्शन के रूप में अनुबंधित किया  जाता है यह एलर्जी ,अस्थमा, कैंसर के इलाज के लिए अनिवार्य रूप से इस्तेमाल करते हैं अभिव्यक्तियाँ ,चिकित्सा ,मेड ,प्रत्यासा और दवाएं। इसी तरह से डेक्सोना में कुछ सहायक और और ऑफ़ -नाम रोजगार भी है 

डेक्सोना टेबलेट का प्रभाव गर्भवती महिलाओं पर गंभीर रूप से करता है और स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए भी इसका प्रभाव गंभीर रहता है गर्भवती यह स्तनपान कराने वाली महिलाओं पर इसके प्रभाव जैसे लीवर हॉट और किडनी पर असर होता है। 

यदि किसी व्यक्ति को संक्रमण, हृदय रोग, लिवर रोग जैसी कोई भी समस्याएं हो  सकती हैं। अगर ऐसी कोई समस्या हो रही है तो डेक्सोना टेबलेट का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से व्यक्ति के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ सकता है और भी अन्य समस्याएं हो सकती हैं और अगर इनमें से कोई भी समस्या आपको है तो सर्वप्रथम डॉक्टर से सलाह लें इसके बाद ही दवा का सेवन करें। 

प्रैक्टिन टेबलेट के फायदे ( Benefits of Practin Tablets )

Dexona practin tablet uses in hindi – प्रैक्टिन टेबलेट हाइपरसेंसेटिव दवा का दुश्मन है।  इसमें से सिपरोहेप्टडायन  अपने गतिशील फिक्सिंग के रूप में होता है जिसमें एंटीहिस्टामाइन  संवेदनशीलता के खिलाफ एक अलग ही वर्ग में जगह होती है प्रैक्टिन टेबलेट हिस्टामाइन की कार्य करने की निधियों को रोककर या बाधा डालकर प्रतिकूल रूप से अति संवेदनशील अब व्यक्तियों को कम करती है एक विशेषता सिंथेटिक पदार्थ जो हाइपरसेंसेटिव स्थिति का कारण बन जाता है। 

इसका उपयोग मुख्य रूप से अति संवेदनशील क्रियाओं के प्रकार में इलाज में इस्तेमाल करते हैं।  और इसका उपयोग हम कभी-कभी हाइपरसेंसेटिव जैसी बीमारियों में व्यक्तियों को कम करने के लिए भी देते हैं जैसे कि चिड़चिड़ापन, घरघराहट । 

अनुशंसित लंबाई के लिए प्रैक्टिन टेबलेट के सेवन से पहले अपने नजदीकी प्राथमिक चिकित्सालय में जाकर डॉक्टर की सुझाव के बाद ही दवा का उपयोग करें, और 6 साल से कम उम्र के शिशुओं को बच्चों और गुरुदेव जैसी गंभीर बीमारियों से पीड़ित मरीजों को यह दवा को सेवन नहीं कराना चाहिए। 

 प्रैक्टिन टेबलेट का उपयोग कभी कभी हम नाक की संवेदनशीलता के लिए जैसे घर-घर आहट (  नाक में परेशानी ) कम करने के लिए व्यक्तियों को सेवन करने के लिए बताया जाता है। 

 प्रैक्टिन टेबलेट का उपयोग आंखों की अति संवेदनशीलता को कम करने के लिए भी इस्तेमाल करते हैं  जैसे कि –  लाल आंखें, दुखी आंखें, आंखों में झनझनाहट होना। 

प्रैक्टिन टेबलेट का उपयोग झुनझुनी , त्वचा में चकत्ते पड़ना ,त्वचाविज्ञान जैसी संवेदनशीलता बिमारियों को काम करने के लिए भी इस्तेमाल करते हैं। 

प्रैक्टिन टेबलेट एक मौलिक रूप से बारहमासी और कभी कभी प्रतिकूल रूप से अतिसंवेदनशील राइनाइटिस और पत्ती सहित और अन्य हाइपरसेंसेटिव के लिए समर्थन भी करता है, मां आपकी उम्र, बीमारी, वजन, शरीर के आकार,की उपचार के लिए इस्तेमाल करते है 

इस दवा के साथ उपचार के दौरान आप माध्यमिक प्रभाव के रूप में नींद, भराई, शुष्क मुंह , स्पष्ट दृष्टि, गले या  नाक का सामना भी करना पड़ सकता है कुछ व्यक्ति इसी तरह के वास्तविक  बदलाव जैसे –  मनमुटाव, दिलाना, दौरे पेशाब करने में परेशानी है ना और अप्रत्याशित दिल की धड़कनों का सामना करना पड़ सकता है इस दवा के लिए एक गहन हाइपरसेंसेटिव प्रक्रिया शायद ही कभी देखने को मिलती है। 

प्रैक्टिन टेबलेट को गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली महिलाओं पर इसका प्रभाव मध्यम प्रकार से रहता है लेकिन इस दवा का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह लें

 यदि किसी व्यक्ति को पेट में अल्सर जैसी गंभीर बीमारी है तो उसे प्रैक्टिन दवा का सेवन नहीं करना चाहिए सेवन करने से व्यक्ति के स्वास्थ्य पर गंभीर प्रभाव पड़ सकते हैं। 

Combiflam Tablet Uses In Hindi : कॉम्बिफ्लेम का उपयोग हिंदी में, फायदे और नुकसान ( साइड इफेक्ट )

डेक्सोना टेबलेट के साइड इफेक्ट ( Dexona Tablet side effects )

Dexona practin tablet uses in hindi – डेक्सोना टेबलेट इस्तेमाल करने के बाद ज्यादातर दुष्प्रभाव में चिकित्सक की सलाह लेने की आवश्यकता नहीं पड़ती है इसलिए इस दवा के नियमित रूप से सेवन करने पर इसके दुष्प्रभाव अपने आप ही खत्म हो जाते हैं यदि फिर भी अगर दुष्प्रभाव लंबे समय तक रहते हैं और स्वास्थ्य का लक्षण बिगड़ता है तो इसमें चिकित्सक को सारी जानकारी देकर उनकी सलाह लें

डेक्सोना टेबलेट के साइड इफेक्ट कुछ इस प्रकार  निम्न वत है –

  • संक्रमण
  •  वजन बढ़ाना
  •  असहज महसूस करना
  •  आसाम में अन्य प्रकार की हिचकी आना
  •  शुक्राणुओं की संख्या में कमी
  •  इलेक्ट्रोलाइट असंतुलन
  •  मेटाबॉलिक डिसऑर्डर
  •  कूसिंग  सिंड्रोम 

 अगर इनमें से कोई भी दुष्प्रभाव आपको महसूस हो तो तो जल्दी अपने प्राथमिक  चिकित्सक में जाकर डॉक्टर से संपर्क करे। 

Dolo 650 uses in Hindi : डोलो 650 उपयोग, खुराक, मूल्य, संरचना और साइड इफेक्ट्स

डेक्सोना टैबलेट को इस्तेमाल कैसे करें ( How to use Dexona Tablet )

डेक्सोना टेबलेट की खुराक कोई निश्चित नहीं होती है  क्योंकि यह है डॉक्टर के द्वारा रोगी की उम्र व स्वास्थ्य की वर्तमान स्थिति देखकर ही डेक्सोना टेबलेट की खुराक निश्चित करेगा।  इस दवा को ना तो तोड़ कर ना ही चबाकर नाही पीसकर नहीं खाना इस दवा को अधिकतर भोजन के बाद सीधा निकलने की सलाह दी जाती है 

डेक्सोना टेबलेट से संबंधित पूछे जाने वाले कुछ प्रश्न ( FAQs about Dexona Tablet )

प्रश्न – डेक्सोना टेबलेट किस प्रकार काम करता है ? ( How does Dexona tablet work? )

उ –   डेक्सोना टेबलेट एक स्टेरॉयड का प्रकार है जो हमारे शरीर को प्रभावित करने वाले उत्पादनो को स्तगित करता है ,जिसकी वजह से इन्फ्लेमेशन और एलर्जी होती है। 

प्रश्न – डेक्सोना टेबलेट का इस्तेमाल कैसे  करते हैं ? ( How to use Dexona tablet? )

उ –   डेक्सोना टेबलेट की खुराक निश्चित नहीं रहती है इसलिए यह डॉक्टर द्वारा रोगी की उम्र और वर्तमान स्तिति को देखकर ही निर्धारित की जाती है। डेक्सोना टेबलेट को न ही तोड़कर और न ही चबाकर कहते है बल्कि इस टेबलेट को खाना खाने के बाद ही ऐसे निगल लिया जाता है। यही डॉक्टर की सलाह रहती है। 

प्रश्न –  क्या गर्भावस्था के दौरान डेक्सोना टेबलेट का सेवन कर सकते हैं ? ( Can Dexona tablet be taken during pregnancy? )

उ –    डेक्सोना टेबलेट का इस्तेमाल गर्भावस्था के दौरान महिलाएं करते हो सकती हैं लेकिन सबसे पहले इस हालात में डॉक्टर की सलाह देना अति आवश्यक माना जाता है क्योंकि गर्भावस्था के दौरान इस दवा का सेवन असुरक्षित भी हो सकता है इसलिए पहले डॉक्टर से इस दवा के लाभ और हानियों के बारे में पता कर लें इसके बाद ही दवा का सेवन करें। 

प्रश्न – क्या लिवर जैसी गंभीर बीमारी में डेक्सोना टेबलेट का सेवन कर सकते हैं ? ( Can Dexona tablet be taken in severe liver disease? )

उ –   लीवर से बीमारी से पीड़ित मरीजों को डेक्सोना टेबलेट लेने से पहले डॉक्टर से सलाह लेनी आवश्यक है क्योंकि इस बीमारी में  पीड़ित मरीजों को डेक्सोना लेने की ज्यादा जानकारी नहीं है। 

प्रैक्टिन टेबलेट के मुख्य इस्तेमाल ( Uses of Practin Tablet )

  • एलर्जी की स्थिति में उपचार पाना
  •  भूख बढ़ाने के लिए

प्रैक्टिन टेबलेट के लाभ – (Benefits of Practin tablet )

एलर्जी रिएक्शन का इलाज  ( Allergic reaction treatment )

Dexona practin tablet uses in hindi – प्रैक्टिन 4mg  टेबलेट हमारे शरीर में उन पदार्थों को कार्य करने से रोकता है जो सूजन और लक्षण जैसे कि बहती नाक, बंद नाक, छींक आना, आंखों में खुजली होना या आंखों में पानी का कारण बनते हैं प्रैक्टिन टेबलेट का हम कई अलग-अलग तरह की सूजन  और एलर्जी की समस्याओं के इलाज के लिए भी इस्तेमाल करते हैं.क्योंकि यह दवा हमारे प्रतिरक्षा तंत्र को कमजोर कर देती है इसलिए हम लोगों को बीमार व्यक्तियों और संक्रमण से पीड़ित व्यक्तियों से जितना ज्यादा हो सके दूर ही रहे 

भूख बढ़ाने के लिए ( to increase appetite )

 प्रैक्टिन  4mg टेबलेट ऊर्जा आवश्यकताओं को लगातार बढ़ाकर भूख को बढ़ा देता है इसलिए यह है अंडन्यूट्रिशन या मालनूट्रिशन को भी नियंत्रित करने करने के लिए सुरक्षित और बेहतर प्रभावित तरीका है यह भूख की कमी का इलाज करने के लिए हमारी  मदद करती है और हमारे शरीर में पोषण संबंधी स्थिति को भी सुधार करती है

  प्रैक्टिन टेबलेट से होने वाले दुष्प्रभाव ( side effects of practin tablet )

प्रैक्टिन टेबलेट  के सेवन से हमारे शरीर में अधिकांश दुष्प्रभावों में डॉक्टर की सलाह लेने की आवश्यकता नहीं पड़ती है और प्रैक्टिन टेबलेट का नियमित रूप से सेवन करने से दुष्प्रभाव अपने आप ही खत्म हो जाते हैं और अगर दुष्प्रभाव बने रहते हैं और हमारा अच्छा बिगड़ने लगता है तो प्रैक्टिन टेबलेट का सेवन बिना डॉक्टर की  सलाह से ना लें क्योंकि इससे आपको गंभीर दुष्प्रभाव का सामना करना पड़ सकता है

प्रैक्टिन टेबलेट का इस्तेमाल किस तरह करना है ( How to use Practin Tablet )

प्रैक्टिन टेबलेट की खुराक और अनुमापन की स्थिति जानने के लिए  अपने नजदीकी प्राथमिक चिकित्सालय मैं जाकर डॉक्टर के द्वारा सुझाव  ले इस दवा को आप खाना के साथ में या  खाली पेट ही सेवन कर सकते हैं और सबसे बेहतर यही होगा कि इस दवा को निर्धारित समय में और  नियमित रूप से ही सेवन करना होता है

Azithromycin tablet uses in hindi : एजिथ्रोमाइसिन का उपयोग हिंदी में और साइड इफेक्ट्स

प्रैक्टिन टेबलेट से संबंधित पूछे जाने वाले प्रश्न ( FAQs related to Practin Tablet )

 प्रश्न –  क्या प्रैक्टिन टेबलेट  का इस्तेमाल करते समय शराब का सेवन करना सुरक्षित रहेगा ? ( Is it safe to consume alcohol while using Practin Tablet? )

उ –    शराब के साथ में प्रैक्टिन टेबलेट का सेवन करने से आपको बता दिया कि नींद भी आ सकती है

 प्रश्न – क्या गर्भावस्था के दौरान प्रैक्टिन टेबलेट का इस्तेमाल करना सुरक्षित रहेगा ? ( Is it safe to use Practin tablet during pregnancy? )

 उ –  प्रैक्टिन टेबलेट को आमतौर पर गर्भावस्था के समय इसे इस्तेमाल करने को इसे सुरक्षित माना जाता है

 प्रैक्टिन टेबलेट को जानवरों पर किए  अध्ययनों के द्वारा पता चला है कि जानवरों के शरीर में विकसित हो रहे बच्चे  पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ता है

 प्रश्न – क्या प्रैक्टिन टेबलेट का इस्तेमाल गाड़ी चलाते समय सेवन करना सुरक्षित है ? ( Is Practin Tablet safe to use while driving? )

उ –    प्रैक्टिन टेबलेट के इस्तेमाल से दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं जिससे आपको गाड़ी चलाने में या भारी  मशीनरी को चलाने की क्षमता को प्रभावित कर सकती है

 प्रैक्टिन टेबलेट के सेवन से आपको चक्कर,  नींद, और बुजुर्गों में हाइपोटेंशन  जैसे लक्षण भी हो सकते हैं यह आपके ड्राइव करने की क्षमता को प्रभावित कर सकती है इसलिए प्रैक्टिन टेबलेट के सेवन के बाद आप ड्राइव ना करें तो बेहतर है

प्रश्न – क्या किडनी की बीमारी में प्रैक्टिन टेबलेट सुरक्षित है ? ( Is practin tablet safe in kidney disease? )

 उ –  गुर्दे जैसे गंभीर बीमारी है से पीड़ित मरीजों को यह सावधानी बरतने की चाहिए कि इस बीमारी में प्रेक्टिन टेबलेट का इस्तेमाल ना करें और प्रेक्टिन टेबलेट में  खुराक की बदलाव की आवश्यकता भी बढ़ सकती है

 और अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से सलाह लें

 प्रश्न – क्या प्रैक्टिन टेबलेट लीवर की बीमारी में सुरक्षित है ? ( Is Practin tablet safe for liver disease? )

उ –    लीवर की गंभीर बीमारी से  पैलेस मरीजों को प्रैक्टिन टेबलेट के उपयोग से जुड़ी सीमित जानकारी उपलब्ध है कृपया इस जानकारी को डॉक्टर द्वारा ही प्राप्त करें 

Neurobion forte tablet uses in hindi : न्यूरोबिओन फोर्ट टेबलेट का इस्तेमाल हिंदी में

Combiflam Tablet Uses In Hindi : कॉम्बिफ्लेम का उपयोग हिंदी में, फायदे और नुकसान ( साइड इफेक्ट )

Sinarest uses in Hindi – सिनारेस्ट का इस्तेमाल सही तरीके से कैसे करें ?

Dolo 650 uses in Hindi : डोलो 650 उपयोग, खुराक, मूल्य, संरचना और साइड इफेक्ट्स

Azithromycin tablet uses in hindi : एजिथ्रोमाइसिन का उपयोग हिंदी में और साइड इफेक्ट्स

निष्कर्ष – दोस्तों हिंदी में हेल्प पाओ किसी भी प्रकार की चिकित्सा और उपचार प्रदान नहीं करता है। किसी भी दवा का इस्तेमाल करने से पूर्व अपने चिकित्सक की सलाह अवश्य ले लें।  हम उम्मीद करते हैं कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। आप हिंदी में हेल्प के लिए हमारी की वेबसाइट www.hindimehelppao.com विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है, तो हिंदी में हेल्प पाओ के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं और अन्य लोगों के साथ साझा कर सकते हैं। UP to 50% of on Amazon

Leave a Reply

Your email address will not be published.