Cypon syrup uses in hindi | CYPON की जानकारी हिंदी में

By | February 28, 2022

Cypon syrup uses in hindi | CYPON की जानकारी हिंदी में 

Cypon syrup Uses in hindi

Cypon syrup Uses in hindi

Cypon syrup uses in hindi | CYPON ऐसी दवा है जो डॉक्टर के लिखे जाने के बाद ही प्राप्त होती है,जो सिरप ,कैप्सूल और ड्रॉप आदि रूप में उपलब्ध है।  इसे मुख्य रूप से भूख न लगना,ऐनोरेक्सिया इलाज के लिए प्रयोग करते हैं। 

और इसके अलावा भी Cypon के कुछ और अन्य प्रयोग भी हैं। 

लिंग, आयु और पिछली स्वास्थ्य जानकारी के अनुसार ही Cypon का खुराक रोगी को देंगें। Cypon की सही मात्रा इस पर भी निर्भर करता  है कि मरीज की मुख्य बीमारी क्या है। रोगी की तबियत के अनुसार ही  Cypon की खुराक मरीज को दिया जाता है। 

Cypon के दुष्प्रभाव 

Cypon के दुष्प्रभाव इलाज के बाद  बहुत ही जल्द खत्म हो जाते है और अगर Cypon के दुष्प्रभाव बिगड़ जाय तो , लम्बे समय तक बने रहते हैं, अगर इसके दुष्प्रभाव दिखे तो तुरंत ही अपने नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करे। 

Cypon का प्रभाव गर्भवती महिलाओं पर सुरक्षित रहता है और स्तनपान कराने वाली महिलाओं पर Cypon का सेवन करने में इसका प्रभाव मध्यम रहता है। इसके अतिरिक्त Cypon का लिवर ,किडनी और ह्रदय पर क्या असर होता है। इसके बारे में नीचे दिया गया है –

अगर अल्सर जैसी बीमारी आपके पेट में पहले से ही है तो Cypon देने की सलाह नहीं दी जाती है क्योंकि इसके दुष्प्रभाव पड़ सकते हैं , ऐसी ही कई बीमारियां हैं जिनमे Cypon का सेवन करने से आपको दुष्प्रभाव का अनुभव आपको होने लगेगा। 

Cypon के लाभ और प्रयोग करने का तरीका (Cypon syrup uses in hindi | CYPON की जानकारी हिंदी में)

Cypon मुख्य रूप से इन बिमारियों में काम आने वाली दवा 

मुख्य लाभ

  • भूख न लगना 

 अगर मरीज को भूख नहीं लगती है तो Cypon का सेवन करने से उसे पहले जैसे भूख लगने लगेगी।

  •  ऐनोरेक्सिया

 एनोरेक्सिया को अक्सर एनोरेक्सिया भी कहते हैं जो इंसान अक्सर ऐनोरेक्सिया जैसी बीमारी से पीड़ित होता है। उसका वजन कम हो जायेगा और ऐनोरेक्सिया से पीड़ित इंसान अपने शरीर का वजन और आकार देखकर चिंतित रहता है। ऐनोरेक्सिया से ग्रस्त लोग Cypon का सेवन करने से शरीर का वजन और आकार सही रहता है।

अन्य लाभ

  • कीड़े के काटने से होने वाली एलर्जी 

अगर हमारे शरीर में कोई जहरीला कीड़ा काटता है तो हमारा शरीर उस जहर को सहन नहीं कर पाता और शरीर में खुजली होने लगती है। और फफोले जैसे दाने पड़ने लगते है और दाग पड़ जाते है, और इस तरह की बीमारी से पीड़ित इंसान Cypon का सेवन करें।

  • प्रेगनेंसी में भूख न लगना 

यह बीमारी गर्भवती महिलाओं में ज़्यदातर पायी जाती है ,महिलाओं में प्रेग्नेंसी के समय में महिलाओं को भूख नहीं लगती। और लड़की या महिलाएं परेशान होती हैं ,तो इस तरह की बीमारी से पीड़ित महिलाएं Cypon का सेवन करें।

  • बच्चों में माइग्रेन

माइग्रेन ऐसी बीमारी है जो सिरदर्द से बहुत ही खतरनाक है ,माइग्रेन नामक बीमारी ज़्यदातर बच्चों में पायी जाती है। जिसके कारण दिनचर्या कार्यों में मन नहीं लगता। माइग्रेन अटैक का प्रभाव व्यस्कों में भी बहुत खतरनाक होता है तो जरा सोचिये बच्चों पर क्या प्रभाव पड़ता होगा। इस बीमारी में ऐसा लगता है जैसे कोई हमारे सिर पर कुछ भारी चीज से वार कर रहा हो। इस बीमारी से होने वाला तेज़ दर्द 1 घंटे से कम या एक दिन तक या लम्बे समय तक रह सकता है, इसका दर्द ज्यादातर एक सप्ताह तक रहता है।

कभी – कभी माइग्रेन से पीड़ित बच्चो की आँखों में धुंधलापन छा जाता है ,तेज़ खुसबू और चमकदार रोशनी से भी बच्चों को परेशानी होती है और माइग्रेन से पेट की बीमारी की भी शिकायत पायी जाती है। 

इन बिमारियों से छुटकारा पाने के लिए Cypon का सेवन करते हैं।

  • पित्ती 

पित्ती को हीव्स या शीतपित्त भी कहते हैं ,यह फफोलेदार दाग  या धब्बे शरीर में किसी भी भाग में निकल सकते हैं। शीतपित्त लाल रंग की बीमारी होती है इसमें खुजली अधिक होती है और यह किसी ऐसे जहरीले पदार्थ को छूने या संपर्क में आने से फैलता है जो हमारा शरीर शूट नहीं कर पाता है और शरीर में एलर्जी होती है और हमारे शरीर के उस भाग में खुजली जैसी एलर्जी होती है। 

आकार में ये एक छोटे धब्बे से लेकर बड़े एक दुसरे से जुड़े चकत्ते या उभरे हुए चकत्ते होते हैं। यह चकत्ते शरीर में एक दो दिन या लम्बे समय तक रहते हैं।  

पित्ती बीमारी से छुटकारा पाने के लिए Cypon (Cypon syrup uses in hindi | CYPON की जानकारी हिंदी में) का सेवन जब तक करे जब तक बीमारी पूरी तरह से ख़तम न हो जाय।

  • परागज ज्वर 

पराग के संपर्क में आने के बाद लगातार छींक आने लगती है ,यह एलर्जी के कारण होता है। एलर्जी में हमारा शरीर बाहरी कणों  की अपेक्षा संवेदनशील होता है ,कभी -कभी ज्यादा छींकने से एलर्जी हो जाती है। और एलर्जी के कारण  हमारे नाक  में सूजन भी आ जाती है।  यह हिस्टामाइन रक्त वाहिकाओं को खोलता है और इससे झिल्ली में सूजन और त्वचा पर लालिमा हो जाती है। ऐसा होने पर हमारी नाक बंद हो जाती है ,पशु ,परागकण ,कॉकरोच ,फफूंद ,धुल के कण ,वायु प्रदुषण ,धुंआ ,गंध ,रंग -पेंट का धुंआ आदि विभिन्न कारणों से एलर्जी रायनाइटिस हो जाता है। इसलिए Cypon का सेवन करने से परागज जैसी बीमारी से बचे रहेंगें।

  • एलर्जी 

एलर्जी एक प्रकार से त्वचा में फैलने वाली बीमारी है ,एलर्जी किसी भी विशेष चीज से जैसे भोजन ,कपड़े,या ड्रग्स आदि जैसे पदार्थों से ज्यादा फैलने वाली बीमारी है। एलर्जी से फैलने वाले पदार्थ को एलर्जन कहते हैं जोकि शरीर से नहीं बल्कि बाहरी वस्तुओं से फैलने वाली बीमारी है। इससे बचने के लिए Cypon का सेवन करते हैं।

  • वाहिकाशोप 

वाहिकाशोप को ऐन्जियोड़ीमा भी कहते हैं इस बीमारी में छोटी -छोटी रक्त कोशिकाओं ऊतकों में तरल पदार्थ का रिसाव करती हैं ,जिससे सूजन हो जाती है वाहिकाशोप के कारण ऊतकों की नसों में भी सूजन हो जाती है। 

ऐन्जियोड़ीमा शरीर के कुछ भागों में ज्यादा फैलता है जैसे होंठ चेहरा गले में जननांग जैसे आदि क्षेत्रों में होता है ,किसी भी क्षेत्र में सूजन कम से कम 1 से 3 दिनों में रहता है। कभी -कभी ऐन्जियोड़ीमा से आतंरिक अंगो में सूजन जैसे पेट या आंत में और पेट दर्द या सीने में दर्द का कारण बन जाता है। इसलिए Cypon का सेवन करने से वाहिकाशोप या ऐन्जियोड़ीमा नमक बीमारी से बचे रहते हैं।

  • उलटी होना 

अगर किसी भी साधारण इंसान को उलटी या दस्त होते हैं तो ये मान ले की उस इंसान के अंदर अत्यधिक कमजोरी है जिसके कारण उस इंसान को जितनी भी जल्दी हो सके अपने नजदीकी डॉक्टर से सलाह लेकर Cypon सिरप का प्रयोग करें। इस सिरप का प्रयोग हम बिना बीमारी के भी प्रयोग कर सकते हैं 

  • मुंह का सूखना

अगर किसी भी रोगी का मुंह बार बार सूख रहा है तो वो Cypon का सेवन कर सकता है और अगर वह इसे हलके में लेता है तो वह अधिक बीमारी के घेरे में आ जायेगा।  इसलिए जिस इंसान को भी लगे की उसका मुंह सूख रहा है तो वह अपने नजदीकी डॉक्टर से सलाह लेकर Cypon का सेवन करके आप बीमारी से बच सकते हैं।

  • सर दर्द

जब आपको तनाव का अनुभव होता है तो ऐसा लगता है जैसे दर्द आपके सिर से आ रहा है। हालांकि, दर्द का स्रोत मांसपेशी तनाव माना जाता है। आपके चेहरे, गर्दन और आपके सिर के चारों ओर की सभी मांसपेशियां इसमें शामिल होती हैं। जब मांसपेशियां तनावग्रस्त हो जाती हैं, तो प्रोस्टाग्लैंडिन नामक पदार्थ चोट की साइट पर जारी हो जाते हैं। प्रोस्टाग्लैंडिन दर्द रिसेप्टर्स को उत्तेजित करता है, जो बदले में आपको उस क्षेत्र में और उसके आस-पास दर्द का अनुभव कराता है। सर दर्द भी कई प्रकार का होता है कभी -कभी हमारा एक तरफ का सर दर्द करने लगता है तो इसमें परेशान नहीं होना है। 

पास में नजदीकी डॉक्टर से सलाह लेकरहमें Cypon का प्रयोग करना है। अगर हम डॉक्टर से सलाह लेंगे तो डॉक्टर हमे Cypon (Cypon syrup uses in hindi | CYPON की जानकारी हिंदी में) सिरप लेने को बोलेगा , इसलिए आप सर दर्द जैसी बीमारी से बचना चाहते हैं तो Cypon का सेवन करें।

  • बुखार आना 

जब आपको सामान्य तरह की बुखार है तो आप Paracetamol जैसी दवा का प्रयोग कर सकते हैं अगर आपकी बुखार Paracetamol टेबलेट से नहीं सही हो रही तो फिर आपको नजदीकी डॉक्टर से सलाह लेनी ही पड़ेगी जैसे ही आप डॉक्टर से अपनी बीमारी के बारे में बताएँगे तो डॉक्टर आपको Cypon सिरप लेने के बारे में कहेगा क्यों की 

Cypon सिरप बुखार और हमारे शरीर की कमजोरी , वजन की कमी जैसी बिमारियों के लिए अत्यंत उपयोगी दवा है। 

अगर आप Cypon का बिना बीमारी के भी उपयोग करते हैं तो आपके शरीर में कोई ऐसी बीमारी अपनी जगह नहीं ले सकती इसलिए Cypon हमारे लिए बहुत अत्यधिक उपयोगी दवा है।

अन्य दवाओं की जानकारी : –

Dexona tablet uses in hindi : डेक्सोना टैबलेट का इस्तेमाल हिंदी में

Combiflam Tablet Uses In Hindi : कॉम्बिफ्लेम का उपयोग हिंदी में, फायदे और नुकसान ( साइड इफेक्ट )

Sinarest uses in Hindi – सिनारेस्ट का इस्तेमाल सही तरीके से कैसे करें ?

Dolo 650 uses in Hindi : डोलो 650 उपयोग, खुराक, मूल्य, संरचना और साइड इफेक्ट्स

Azithromycin tablet uses in hindi : एजिथ्रोमाइसिन का उपयोग हिंदी में और साइड इफेक्ट्स

Cetirizine tablet uses in hindi :: सेटरिजिन टैबलेट का उपयोग हिंदी में

Betnesol tablet uses in hindi : बेटनेसोल टैबलेट का उपयोग हिंदी में 

निष्कर्ष – दोस्तों हिंदी में हेल्प पाओ किसी भी प्रकार की चिकित्सा और उपचार प्रदान नहीं करता है। किसी भी दवा का इस्तेमाल करने से पूर्व अपने चिकित्सक की सलाह अवश्य ले लें।  हम उम्मीद करते हैं कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। आप हिंदी में हेल्प के लिए हमारी की वेबसाइट www.hindimehelppao.com विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है, तो हिंदी में हेल्प पाओ के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं और अन्य लोगों के साथ साझा कर सकते हैं। UP to 50% of on Amazon

Leave a Reply

Your email address will not be published.