Azithromycin tablet uses in hindi : एजिथ्रोमाइसिन का उपयोग हिंदी में और साइड इफेक्ट्स

By | June 14, 2021

Azithromycin tablets uses in hindi

how to use azithromycin in hindi

Azithromycin tablet uses in hindi

Azithromycin tablet uses in hindi : एजिथ्रोमाइसिन का उपयोग हिंदी में और साइड इफेक्ट्स

दोस्तों! आज हम आपको बताएंगे एजिथ्रोमाइसिन का उपयोग लाभ और होने वाले दुष्परिणामों के बारे में, हमने पिछले पोस्ट में बताया Cetirizine tablet uses in hindi : सेटरिजिन टैबलेट का उपयोग कैसे करें? सबसे पहले तो आप ये जान लें कि एजिथ्रोमाइसिन ( Azithromycin tablet uses in hindi ) क्या है ? तथा इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स की मूल बातें, दोस्तों एजिथ्रोमायसिन दवा का प्रयोग खासकर कई प्रकार के बैक्टीरियल इंफेक्शन के उपचार के लिए किया जाता है। लेकिन, यह वायरल इंफेक्शन जैसे सामान्य जुकाम, फ्लू के इलाज के लिए इस्तेमाल नहीं किया जाता है। यदि आप कोई भी एंटीबायोटिक अधिक उपयोग या गलत तरीके से उपयोग करते है तो आपके शरीर पर इसके प्रभाव में कमी आ सकती है।
इस दवा का नाम और इसकी कैटेगरी
एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) दवा मैक्रोलाइड-टाइप एंटीबायोटिक (Antibiotic) कैटेगरी की दवा है, जो बैक्टीरिया के विकास को रोकने व खत्म करने का काम करता है। इसे बैक्टीरियल इंफेक्शन की दवा भी कहते हैं।
क्या यह ओटीसी (over the counter) या प्रिस्क्रिप्शन ड्रग है ?
जी हाँ यह ओटीसी ड्रग है। इसका इस्तेमाल आप बिना डॉक्टर की सलाह के कर सकते हैं। परन्तु यदि आप डॉक्टर किसलाह से ये दवा लेते है ज्यादा सही रहेगा।
विशिष्ट रूप से इस दवा का उपयोग किस में किया जाता है ?
प्रमुखता से इस दवा का उपयोग बैक्टीरियल इंफेक्शन (Bacterial infections) के उपचार में किया जाता है।

Cetirizine tablet uses in hindi :: सेटरिजिन टैबलेट का उपयोग हिंदी में

इस दवा के उपयोग के बारे में
जैसा कि हमने आपको पहले ही बता दिया हैं कि एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) का ज्यादातर इस्तेमाल बैक्टीरियल इंफेक्शन से लड़ने के लिए किया जाता है। ये स्ट्रेप थ्रोट (Strep throat), निमोनिया (Pneumonia),मिडिल इयर इंफेक्शन (Middle ear infections), ट्रेवल डायरिया (Traveler’s diarrhea) आदि में प्रमुखता से किया जाता है। जब तक आपके डॉक्टर द्वारा निर्धारित दवा की मात्रा पूरी नहीं होती तब तक बीमारी के लक्षण समाप्त होने के बाद भी इस दवा की खुराक लेना जारी रखें। यदि दवा निश्चित अवधि तक नहीं लिया गया तो बैक्टीरिया फिर से फैल सकते हैं।
कैसे करें दवा का सही इस्तेमाल ?
वैसे तो खाली पेट या कुछ खाने के बाद भी एजिथ्रोमायसिन की खुराक ले सकते हैं पर एक बार अपने डॉक्टर की सलाह अवश्य ले लें। लेकिन यदि आपका पेट सही नहीं है, तो इसका सेवन भोजन के साथ ही करना चाहिए। आपकी चिकित्सा स्थिति और उपचार की प्रतिक्रिया पर दवा की खुराक आधारित होती है।
दोस्तों एंटीबायोटिक्स का परिणाम सबसे अच्छा मिलता है, जब आपके शरीर में दवा की मात्रा एक निश्चित स्तर पर होती है। इसलिए, इस दवा की खुराक प्रतिदिन एक तय निश्चित समय पर ही लें।
यदिआप किसी भी तरह की एंटासिड लेते हैं जिसमें एल्यूमीनियम या मैग्नीशियम होता है, तो हमेशा ध्यान रखें कि एजिथ्रोमायसिन की खुराक लेने से कम से कम 2 घंटे अंतराल अवश्य रखें। एजिथ्रोमायसिन के साथ मैग्नीशियम या एल्युमिनियम युक्त एंटासिड का उपयोग न करें। यह नुक्सान के साथ – साथ इसके प्रभाव को कम कर सकता है।
एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) आखिर काम कैसे करती है?
एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) बैक्टीरिया को प्रोटीन का प्रोडक्शन करने से रोकता है। बिना प्रोटीन के बैक्टीरिया अपनी संख्या की वृद्धि नहीं कर पाते हैं या आप ये कह सकते हैं कि बैक्टीरिया बिना प्रोटीन के जीवित नहीं रह सकते हैं। बिना प्रोटीन के जीवाणुओं की वृद्दि रुक जाती है और फिर ये मर जाते हैं। दवा का इस्तेमाल करने से बैक्टीरिया लगभग निष्क्रिय हो जाते हैं और हमारे शरीर का इम्यून सिस्टम ही उन्हें ख़त्म करने का कार्य शुरू कर देता है।
इस दवा का प्रयोग करने से पूर्व हमें क्या जानना आवश्यक है ?
1. यदि कोई महिला प्रेग्नेंट हैं या ब्रेस्टफीडिंग कराती हैं तो इस दवा सेवन न करें। इसका कारण यह है कि जब आप बच्चे को दूध पिलाएंगी, तो दवा का प्रभाव बच्चे की सेहत पर असर डालेगा, और यही चीज गर्भवती महिलाओं के लिए भी है। इसलिए ऐसी स्थिती में केवल डॉक्टर की सलाह पर ही दवा का सेवन करें।
2. अगर आप एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) का प्रयोग करने के साथ किसी तरह का हर्बल इस्तेमाल करते हैं, तो इसके बारे में भी अपने डॉक्टर को जानकारी अवश्य दें।
आपको एजिथ्रोमायसिन या इसमें शामिल किसी भी रसायन से एलर्जी है, तो अपने डॉक्टर को अवश्य बताएं।
3. अगर आपको किसी तरह की अन्य बीमारी है, तो अपने डॉक्टर को अवश्य बताएं।
इस दवा के प्रति सावधानियां एंव चेतावनी सम्बंधित कुछ प्रश्न
किन स्थितियों में दवा का उपयोग ना करें
प्र ० 1 – क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) लेना सुरक्षित है?
उ ० – प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान, इसके इस्तेमाल करने से महिलाओं को किस तरह की परेशानियां हो सकती हैं, इसके बारे में अभी कोई खास जानकारी नहीं है। ऐसे में इसके इस्तेमाल से पहले हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें। हालांकि, यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) ने प्रेग्नेंसी के दौरान इसके इस्तेमाल को लेकर इसे खतरे को ‘बी श्रेणी’ में रखा है।
प्र ० 2 – क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) का इस्तेमाल किया जा सकता है?
उ ० – अगर किसी भी भोजन या एल्कोहॉल के साथ एजिथ्रोमायसिन का सेवन किया जाए तो इसके परिणाम खतरनाक हो सकते हैं। इसलिए इसे किस तरह के खाद्य पदार्थों के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है इसके बारे में अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बातचीत करें।
प्र ० 3 – एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?
उ ० – यदि आपको पहले कभी भी पीलिया (त्वचा या आंखों का पीला होना) या अन्य लिवर से जुड़ी समस्याएं हैं, जो एजिथ्रोमायसिन के सेवन से पहले आपने डॉक्टर को इसकी जानकारी दें।
उपचार के उपरांत अपने डॉक्टर को अवश्य बताएं कि क्या आपको या आपके परिवार में किसी को भी लंबे समय तक क्यूटी इंटर्वल (QT interval) है (यह एक दिल की एक दुर्लभ समस्या है जो अनियमित दिल की धड़कन, बेहोशी या अचानक मौत का कारण बन जाती है) या तेज, धीमी या अनियमित धड़कन की समस्या, खून में मैग्नीशियम या पोटेशियम का स्तर कम है। अगर आपके खून में संक्रमण व ह्रदय से जुड़ी कोई बीमारी, सिस्टिक फाइब्रोसिस, एड्स या ह्यूमन इम्यूनो डेफिसिएन्सी वायरस (एचआईवी) संक्रमण, मायस्थेनिया ग्रेविस या किडनी की कोई बीमारी है, तो अपने डॉक्टर को अवश्य बताएं।
(उरोक्त जानकारी किसी डॉक्टर की सलाह पर नहीं है। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें)
एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) के क्या – क्या साइड इफेक्ट्स होते हैं?
यदि आपको पित्त, सांस लेने में तकलीफ, चेहरे, होंठ, जीभ या गले में सूजन जैसे किसी भी एलर्जी की लक्षण दिखाई दे, तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें या नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर सम्पर्क करें।
एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) लेने के पश्चात यदि इस तरह के गंभीर लक्षण नजर आने लगे तो इस दवा का उपयोग बंद कर दें और अपने डॉक्टर से तुरंत संपर्क करेः
पानी या खूनी दस्त, सीने में दर्द और गंभीर चक्कर आना, बेहोशी, तेज दिल की धड़कन तेज या धीमी होने के साथ सिरदर्द, मतली, ऊपरी पेट में दर्द, खुजली, भूख में कमी, गहरे रंग का मूत्र, मिट्टी के रंग का मल, पीलिया, गंभीर त्वचा की एलर्जी, बुखार, गले में खराश, चेहरे या जीभ में सूजन, आंखों में जलन, त्वचा में दर्द, लाल या बैंगनी रंग के चकत्ते, जो फैलते दिखाई दें (विशेषकर चेहरे या ऊपरी शरीर में) या फिर छाले।
इसके कम गंभीर दुष्प्रभाव भी होते है जैसे :
हल्का दस्त, उल्टी, कब्ज, पेट दर्द या अपच, चक्कर आना, थका हुआ महसूस करना, हल्का सिरदर्द, घबराहट, अनिद्रा, योनि में खुजली या डिस्चार्ज होना, हल्के चकत्ते या खुजली, कानों में कोई धुन सुनाई देना, स्वाद या गंध की कमी
वैसे तो , इसका इस्तेमाल करने वाले लोगों में इन सभी तरह के लक्षण नहीं दिखाई देते हैं लेकिन कुछ साइड इफेक्ट्स ऐसे भी हैं, जिनके बारे में यहां पर नहीं बताया गया है। अगर आपको इससे होने वाले किसी भी तरह के साइड इफेक्टस को लेकर कोई प्रश्न है, तो आपने डॉक्टर से अवश्य सलाह लें।
कौन सी दवाएं एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) के साथ प्रभावित कर सकती हैं?
यदि आप किसी तरह की दवा का सेवन कर रहें है, तो उसके साथ एजिथ्रोमायसिन इस्तेमाल करने से पहले यह अवश्य जान लें कि उसके साथ इसका इस्तेमाल करने से आपको किस तरह की परेशानी हो सकती है। साथ ही यह आपके दवा के असर को भी प्रभावित कर सकती है। बिना डॉक्टर की सलाह के इसका सेवन न करें और न ही इसकी खुराक को किसी दूसरी दवा के साथ बदलें।
इस Azithromycin tablet दवा के साथ परस्पर प्रभावित करने वाली कुछ दवाओं के नाम दिए गए हैं जैसे :
मेथाडोन (Methadone)
नेलफिनवीर (Nelfinavir)

दूसरे एंटीबायोटिक Another antibiotic ,  क्लीरिथ्रोमाइसिन Clarithromycin,एरिथ्रोमाइसिन Erythromycin,मोक्सीफ्लोक्सासिन Moxifloxacin ,पैंटामिडाइन Pentamidine खून पतला करने वाली दवाईयां वार्फरिन, कौमाडिन (warfarin, Coumadin) एंटीडिप्रेसेंट-सीतालोप्राम, एस्सिटालोप्राम (An antidepressant–citalopram, escitalopram) कैंसर की दवा-आर्सेनिक ट्राइऑक्साइड, वांडेटेनिब (Cancer medicine–arsenic trioxide, vandetanib)

हार्ट रिदम मेडिसिन-अमियोडेरोन, डिसोपाइरीमाइड, डॉफेटिलाइड, फ्लुकेनाइड, आईबुटिलाइड, प्रोकेनैमाइड, क्विनिडाइन, सोटल (Heart rhythm medicine–amiodarone, disopyramide, dofetilide, flecainide, ibutilide, procainamide, quinidine, sotalol)
मलेरिया-रोधी दवा-क्लोरोक्वीन, हेलोफेन्थ्रिन (Anti-malaria medication–chloroquine, halofantrine)
मनोचिकित्सा विकार के इलाज के लिए दवा – क्लोप्रोमाजिन, हेलोपरिडोल, मेसोरिडाजीन, पिमोजाइड, थायरोकेरेजिन (Medicine to treat a psychiatric disorder–chlorpromazine, haloperidol, mesoridazine, pimozide, thioridazine)
एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin tablet uses in hindi) किसी किसी स्वास्थ्य स्थिति के साथ इंटरैक्ट करती है?
एजिथ्रोमायसिन का इस्तेमाल आपकी सेहत के लिए कुछ मामलों में खतरनाक हो सकता है। इसका सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट से अपने मौजूदा स्वास्थ्य स्थितियों के बारे में बात करें।
इस दवा की सामान्य खुराक क्या है और किस रोग में लेना है ?
त्वचा और नरम ऊतक संक्रमण होने पर – ओरल
एक वयस्क को : 3 दिनों के लिए प्रतिदिन में एक बार 500 मि. ग्रा. उसके बाद 4 दिनों के लिए रोजाना दिन में एक बार 250 मि. ग्रा.।
श्वसन तंत्र में संक्रमण होने पर – ओरल
एक वयस्क को : 3 दिनों के लिए प्रतिदिन में एक बार 500 मिग्रा। उसके बाद 4 दिनों के लिए रोजाना दिन में एक बार 250 मिग्रा।
क्लैमाइडिया ट्रैकोमैटिस के कारण जननांगों में संक्रमण होने पर – ओरल
एक वयस्क को : प्रतिदिन 1 ग्राम की खुराक
असम्बद्ध गोनोरिया होने पर – ओरल
एक वयस्क को : प्रतिदिन 2 ग्राम की खुराक
प्रोफिलैक्सिसोफ द्वारा फैला माइकोबैक्टीरियम एवियम कॉम्प्लेक्स (MAC) संक्रमण होने पर – ओरल
एक वयस्क को : प्रति सप्ताह 1.2 ग्राम। माध्यमिक प्रोफिलैक्सिस उपतार के लिए: दूसरे एंटीमाइकोबैक्टीरियल के साथ प्रतिदिन 500 मिग्रा की खुराक
ग्रैनुलोमा इंगुइनेल होने पर – ओरल
एक वयस्क को : प्रारंभ में प्रतिदिन 500 मिग्रा। उसके बाद जब तक घाव ठीक नहीं हो जाते तब तक 3 सप्ताह के लिए 1 ग्राम
इन्ट्रावेनस – साल्मोनेला टाइफी के कारण होने वाले टाइफाइड बुखार के खिलाफ सक्रिय टीकाकरण
एक वयस्क को : 7 दिनों के लिए प्रतिदिन 500 मिग्रा
एज़िथ्रोमायसिन (Azithromycin tablet uses in hindi) की कितनी मात्रा एक बच्चे को देनी चाहिए?
स्किन और टिशू इंफेक्शन होने पर – ओरल
6 माह से बड़े शिशुओं के लिए- 10 मिग्रा/किग्रा (15 से 25 किलो वजन होने पर: 200 मिग्रा, 26 से 35 किलो वजन होने परः 300 मिग्रा, 36 से 45 किलो वजन होने पर: 400 मिग्रा)
श्वसन तंत्र में संक्रमण होने पर – ओरल
6 माह से बड़े शिशुओं के लिए- 10 मिग्रा/किग्रा (15 से 25 किलो वजन होने पर: 200 मिग्रा, 26 से 35 किलो वजन होने परः 300 मिग्रा, 36 से 45 किलो वजन होने पर: 400 मिग्रा)
 
प्रोफिलैक्सिसोफ द्वारा फैला माइकोबैक्टीरियम एवियम कॉम्प्लेक्स (MAC) संक्रमण होने पर – ओरल
6 माह से बड़े शिशुओं के लिए – 10 मिग्रा/किग्रा, दिन में एक बार, 3 दिनों के लिए
एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) की खुराक छूट जाए तो क्या करें?
यदि एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) की कोई डोज अगर छूट जाती है तो याद आते ही दवा का सेवन करें, लेकिन याद रहे अगर आपके अगले डोज का वक्त हो गया है तो मिस हुए डोज को छोड़ दें और अभी के डोज का सेवन समयानुसार करें। डबल डोज एक साथ ना लें। इससे आपकी सेहत को नुकसान हो सकता है।
ओवरडोज स्थिति में क्या करना चाहिए?
ओवरडोज होने की स्थिती में अपने स्थानीय आपातकालीन सेवाओं को कॉल करें या अपने नजदीकी स्वस्थ्य केंद्र पर इमरजेंसी वॉर्ड में जाएं। जब किसी दवा की अनुशंसित खुराक से अधिक खुराक ले ली जाती है, तो इसे ओवरडोज कहा जाता है। ओवरडोज को हमेशा एक क्लिनिकल टेस्ट की आवश्यकता होती है। ओवरडोज की स्थिति शरीर में गंभीर दुष्प्रभाव पैदा होने लगते है। अगर भूल से आपने दवा का ओवरडोज ले लिया है तो डॉक्टर से तुरंत संम्पर्क करें।
इस दवा के रखरखाव और डिस्पोज के तरीके
दोस्तों एजिथ्रोमायसिन के रख-रखाव के लिए रूम टेंपरेचर अत्यधिक उपयुक्त होता है। इसे धूप के सीधे प्रभाव या नमी में कतई न रखें। एजिथ्रोमायसिन को कभी भी नम या ठंडी जगह में भी नहीं रखना चाहिए। मार्केट में एजिथ्रोमायसिन के तरह – तरह के ब्रांड हैं, जिन्हें स्टोर करने के लिए दिशा-निर्देश भी अलग-अलग हो सकते हैं। जब भी एजिथ्रोमायसिन खरीदें सबसे पहले उसके पैकेज पर लिखे जरूरी निर्देशों को अच्छे से अवश्य पढ़े या फिर अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूछें। सुरक्षा के लिहाज से आपको इसे बच्चों और जानवरों की पहुंच से दूर रखना चाहिए। बिना निर्देश के एजिथ्रोमायसिन को टॉयलेट या किसी नाले में न फेकें। अगर यह एक्सपायर हो चुका है, तो इसका इस्तेमाल न करें। इसकी अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।
एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) बाजार में कैसे उपलब्ध है?
एजिथ्रोमायसिन निम्नलिखित खुराकों के तौर पर उपलब्ध है:
टैबलेट, ओरलः 250 मिग्रा, 500 मिग्रा, 600 मिग्रा
सस्पेंशन, ओरलः 1 ग्राम
सस्पेंशन, ओरलः 1 ग्राम/5 मिली
दवा की उपलब्धता की स्थिति : यह दवा भारत में प्रतिबंधित नहीं है।
दोस्तों हिंदी में हेल्प पाओ किसी भी प्रकार की चिकित्सा और उपचार प्रदान नहीं करता है। हम उम्मीद करते हैं कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। आप हिंदी में हेल्प के लिए हमारी की वेबसाइट www.hindimehelppao.com विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है, तो हिंदी में हेल्प पाओ के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं और अन्य लोगों के साथ साझा कर सकते हैं।

One thought on “Azithromycin tablet uses in hindi : एजिथ्रोमाइसिन का उपयोग हिंदी में और साइड इफेक्ट्स

  1. Pingback: Dexona tablet uses in hindi : डेक्सोना टैबलेट का इस्तेमाल हिंदी में

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *