aristozyme syrup uses in hindi : अरिस्टोजाइम सिरप का इस्तेमाल हिंदी में

By | December 19, 2021

Aristozyme syrup uses in hindi : अरिस्टोजाइम की जानकारी हिंदी में 

aristozyme liquid pineapple uses in hindi aristozyme syrup uses in hindi price aristozyme syrup uses and side effects in hindi

aristozyme liquid pineapple uses in hindi aristozyme syrup uses in hindi price aristozyme syrup uses and side effects in hindi

Aristozyme syrup uses in hindi : यह रोगी के शरीर में विटामिन की कमी को दूर करने एवं विटामिन से सम्बंधित बीमारियों को दूर करने के लिए उपयोग की जाती है। अरिस्टोजाइम सिरप एक लिक्विड रूप मैं मिलने वाली मल्टीविटामिन फॉर्मूलेशन है।अरिस्टोजाइम सिरप लिक्विड पाइनएप्पल स्वाद मैं मिलती है जो की उपयोग करने मैं बहुत ही अच्छी है। 

अरिस्टोजाइम सिरप की संरचना / Composition:

अरिस्टोजाइम सिरप मुख्य रूप से दो एंजाइमों से मिलकर बना है। अरिस्टोजाइम के प्रमुख तत्व नीचे दिए गए हैं। 

डायस्टेस (50 एमजी):  डायस्टेस एक एंजाइम है जो स्टार्च को माल्टोस में     तोड़कर मानव शरीर के लिए आसान उपभोग योग्य सामग्री बनाता है। 

पेप्सिन (10 एमजी): पेप्सिन एक एंजाइम है जिसका उपयोग प्रोटीन को छोटे टुकड़ों में तोड़ने के लिए किया जाता है और इसे शरीर के लिए एक आसान उपभोग्य सामग्री बनाता है।

अरिस्टोजाइम सिरप  का उपयोग किस बीमारी के लिए  करते है : What is Aristozyme Syrup used for ?

अरिस्टोजाइम सिरप का उपयोग मुख्यता पेट की बीमारियों को दूर करने  में किया जाता है :-

  1. यह रोगियों के पेट के अपच को ठीक करने में मदद करता है और भोजन के पाचन में  सुधार करने में मदद करता है।
  2. यह मानव के शरीर में कार्बोहाइड्रेट के पाचन को सुचारू करता है।
  3.  अग्नाशय के विकारों को भी ठीक करने के लिए  इसका प्रयोग किया जाता है। 
  4. अग्नाशय के विकारों को भी ठीक करने के लिए  इसका प्रयोग किया जाता है। 
  5. यह दवा आसानी से पचने वाले स्टार्च को छोटे भागो में तोड़ता है। 
  6. यह दवा खट्टी डकार आने की स्थिति में अरिस्टो जाइम सिरप का उपयोग करना उचित है। 
  7. यह दवा अग्न्याशय के विकारों के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है ! क्योंकि अग्न्याशय भी उचित पाचन के लिए जिम्मेदार एंजाइमों को ग्रहण करता है। 

   अरिस्टोजाइम सिरप कार्य कैसे करता है how work aristozyme syrup in Hindi

Aristozyme में Diastase और Pepsin जैसी सक्रिय सामग्रियां शामिल है।  डायस्टेस और पेप्सिन भोजन में उपलब्ध प्रोटीन और स्टार्च अणुओं को तोड़ते हैं।  प्रोटीन और स्टार्च अणुओं के टूटने से पाचन तंत्र को बेहतर बनाने और तेज करने में मदद मिलती है।  और अंततः पेट की स्थिति जैसे अपच और पेट संबंधित समस्या से राहत मिलती है। 

अरिस्टोजाइम सिरप की खुराक अथवा डोज (Aristozyme syrup doses in Hindi)

अरिस्टोज़ाइम की सामान्य खुराक आमतौर पर 5-10 ml दिन में एक या दो बार है ! दवा के लिए रोगी की व्यक्तिगत प्रतिक्रिया के आधार पर खुराक की मात्रा बढ़ाई जा सकती है ! 16 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को दवा देने से पहले बाल रोग विशेषज्ञ से परामर्श करना हमेशा उचित होता है डॉक्टर द्वारा वजन, आयु, रोगी की मानसिक स्थिति, उपचार की स्थिति के अनुसार दवा की खुराक का निर्णय लिया जाता है.  

Aristozyme कैप्सूल के रूप में  भी उपलब्ध है :-

  • कैप्सूल – कैप्सूल का सेवन करते समय, Aristozyme को किसी भी गैस्ट्रिक संकट से बचने के लिए भोजन के बाद चिकित्सक द्वारा निर्देशित रूप से एक गिलास पानी के साथ मौखिक रूप से लिया जाना चाहिए ! Aristozyme कैप्सूल को रोजाना एक निश्चित समय पर लेना चाहिए !

अरिस्टोजाइम सिरप का दुष्प्रभाव (aristozyme syrup side effects in Hindi)

विभिन्न उपचारों के लिए उपयोग किए जाने वाले अरिस्टोज़ाइम से जुड़े   दुष्प्रभाव निम्नलिखित हैं ! Aristozyme syrup uses in Hindi

  • अतिसार –  सामान्य
  • मतली –  आम
  • पेट दर्द –  कम

अरिस्टोजाइम सिरप का सेवन कब नहीं करना चाहिए Aristozyme syrup uses in Hindi

  • रक्तस्राव विकार: रक्तस्राव विकारों के रोगियों के मामलों मे इसके सेवन से बचना चाहिए। 
  • पहले से मौजूद बीमारियाँ: गाउट और क्रोहन रोग जैसी पहले से मौजूद स्थितियों के मामलों में 
  • एलर्जी: एलर्जी के इतिहास के मामलों में या अरिस्टोज़ोमी या किसी भी कृत्रिम रूप से व्युत्पन्न एंजाइम से एलर्जी की वर्तमान स्थिति
  •   गर्भावस्था: गर्भावस्था के मामलों में परहेज करना चाहिए क्योंकि    यह गर्भवती महिलाओं के लिए उचित नहीं है !
  • अरिस्टोजाइम सिरप का सेवन डॉक्टर की सलाह से ही ले। 

अरिस्टोजाइम सिरप की कीमत 

अरिस्टो जाइम सिरप के 200ml बॉटल की कीमत ₹ 88 है ! यह दवा अरिस्टो फार्मास्यूटिकल्स लिमिटेड द्वारा बनाई जाती है ! Aristozyme syrup uses in Hindi

अरिस्टोजाइम सिरप का सेवन निन्म बीमारियों में किया जाता है :-

भूख में कमी   :-

कई बार आपका पेट खाना पचाने में असमर्थ होता है जिससे आपको कम खाने की आदत लगती है.

कोई भी भूख की कमी का अनुभव कर सकता है और यह कई अलग-अलग कारणों से हो सकता है. लोगों को खाने की इच्छा कम हो सकती है, भोजन में रुचि कम हो सकती है, या खाने के विचार में मतली महसूस हो सकती है.

भूख न लगने के साथ-साथ, एक व्यक्ति को थकान और वजन घटाने का भी अनुभव हो सकता है यदि वह अपने शरीर को बनाए रखने के लिए पर्याप्त भोजन नहीं कर रहा है। 

पेट की गैस :-

कुछ उच्च फाइबर वाले खाद्य पदार्थ गैस का कारण बन सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

  1. बीन्स और मटर
  2. फल
  3. सब्जियां
  4. साबुत अनाज

आपकी बड़ी आंत में गैस तब बनती है जब बैक्टीरिया कार्बोहाइड्रेट फाइबर, कुछ स्टार्च और कुछ शर्करा को किण्वित करते हैं.

जो आपकी छोटी आंत में पच नहीं पाते हैं। उस पदार्थ का कुछ हिस्सा बैक्टीरिया भी खा लेते हैं, लेकिन जब आप अपने गुदा से गैस निकालते हैं तो बची हुई गैस निकलती है.

अन्य आहार कारक जो पाचन तंत्र में बढ़ी हुई गैस में योगदान कर सकते हैं उनमें निम्नलिखित शामिल हैं:

  1. सोडा और बीयर जैसे कार्बोनेटेड पेय पेट की गैस को बढ़ाते हैं.
  2. खाने की आदतें, जैसे बहुत जल्दी खाना, च्युइंग गम या चबाते समय बात करना, यह अधिक हवा निगलने का परिणाम होता है.
  3. मेटामुसिल जैसे साइलियम युक्त फाइबर सप्लीमेंट, कोलन में गैस बढ़ा सकते हैं.
  4. चीनी के विकल्प, या कृत्रिम मिठास, जैसे सोर्बिटोल, मैनिटोल और ज़ाइलिटोल.

बेल्चिंग या पासिंग गैस प्राकृतिक और सामान्य होता है. पेट में सूजन, दर्द या सूजन के साथ अत्यधिक डकार या पेट फूलना, कभी-कभी दैनिक गतिविधियों में हस्तक्षेप कर सकता है या शर्मिंदगी का कारण बन सकता है.

अरिस्टो जाइम के एंजाइम प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट को पचाते है, और पाचन को पूरा करने के बाद में पोषक तत्वों के अवशोषण के लिए प्रभावी होते है। 

खट्टी डकार :-

कुछ खाद्य पदार्थ और पेय पदार्थ भी अधिक बार डकार आने का कारण बन सकते हैं. इनमें कार्बोनेटेड पेय, शराब, और स्टार्च, चीनी, या फाइबर में उच्च खाद्य पदार्थ शामिल हैं जो गैस का कारण बनते हैं.

खट्टी डकार यह एक पेट से हवा को मुंह के माध्यम से बाहर निकालने की क्रिया है. यह आमतौर पर तब होता है जब आप बहुत अधिक हवा निगलते है या आपके पेट में अपचन के कारण अधिक हवा हो जाती है। 

अरिस्टो जाइम सिरप पेट में सभी प्रकार के खाद्य पदार्थों को पचाने में मदद करता है जिससे खट्टी डकार की समस्या कम हो जाती है। 

पेट फूलना :-

 यह समस्या आपको पेट में गैस होने के कारण हो सकती है और आपको इससे भारी डकार और फुला हुआ महसूस करा सकती है.फंगल डायस्टेस और पेप्सिन एक डायजेस्टीव्ह एंजाइम होते है जो आपको खाना पचाने में मदद करते है जिससे आपको पेट फूलने की समस्या कम हो सकती है। 

दवाइयां जो अरिस्टोजाइम के साथ नहीं लेनी चाहिए?

यह सलाह दी जाती है कि साइड-इफेक्ट्स से बचने के लिए इस दवा को निम्न दवा के साथ न लें:

  1. एकरबोस
  2. मिगिटोल
  3. मेट्रोनिडाज़ोल

अरिस्टोजाइम में पाई जाने वाली सक्रिय सामग्रियां : Active ingredients in Aristozyme syrup Hindi.

  • Diastase
  • Pepsin

Neurobion forte tablet uses in hindi : न्यूरोबिओन फोर्ट टेबलेट का इस्तेमाल हिंदी में

Combiflam Tablet Uses In Hindi : कॉम्बिफ्लेम का उपयोग हिंदी में, फायदे और नुकसान ( साइड इफेक्ट )

Sinarest uses in Hindi – सिनारेस्ट का इस्तेमाल सही तरीके से कैसे करें ?

Dolo 650 uses in Hindi : डोलो 650 उपयोग, खुराक, मूल्य, संरचना और साइड इफेक्ट्स

Azithromycin tablet uses in hindi : एजिथ्रोमाइसिन का उपयोग हिंदी में और साइड इफेक्ट्स

Cetirizine tablet uses in hindi :: सेटरिजिन टैबलेट का उपयोग हिंदी में

निष्कर्ष – दोस्तों हिंदी में हेल्प पाओ किसी भी प्रकार की चिकित्सा और उपचार प्रदान नहीं करता है। हम उम्मीद करते हैं कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। आप हिंदी में हेल्प के लिए हमारी की वेबसाइट www.hindimehelppao.com विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है, तो हिंदी में हेल्प पाओ के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं और अन्य लोगों के साथ साझा कर सकते हैं। UP to 50% of on Amazon

Leave a Reply

Your email address will not be published.